प्राचार्य की कलम से

प्राचार्य की कलम से   

 प्रिय छात्र / छात्राओं

संतबूला सत्यनामदास वीरबल पी . जी कालेज में प्रवेश हेतु आपने आवेदन किया है । मेरी शुभकामना है कि प्रवेश में आपको सफलता प्राप्त हो इस महाविद्यालय का अपना एक गौरवपूर्ण इतिहास रहा है और शिक्षा जगत में इसे सम्मान पूर्वक देखा जाता है इस सम्मान के केन्द्र में आप विद्यमान हैं । कोई भी उच्च शिक्षा का केन्द्र अपने भव्य भवनों से नहीं जाना जाता है । अपितु वहाँ निकलने वाले प्रतिभावान छात्र / छात्राओं की समाज के विभिन्न क्षेत्रों में योगदान एवं वहाँ के प्राध्यापकों कर्मचारियों की कार्य के प्रति समर्पण भावना एवं योग्यता से निर्मित होती है ।

 यह महाविद्यालय उन्मुक्त वातावरण में आपके सर्वांगीण विकास के लिए कृत संकल्प है । महाविद्यालय में कला संकाय , विज्ञान संकाय , शारीरिक शिक्षा , शिक्षा संकाय ( बी.एड. , बी.पी.एड. , बी.टी.सी. ) कक्षायें सुचारू रूप से संचालित होती हैं । यहाँ राष्ट्रीय सेवा योजना ( N.S.S. ) रोवर्स / रेंजर्स , खेल – कूद आदि की उत्कृष्ट व्यवस्था है । महाविद्यालय में स्नातकोत्तर स्तर पर कक्षाएं संचालित होती है । संस्था प्रधान होने के नाते आपको ज्ञानार्जन हेतु मैं अपने महाविद्यालय परिसर में आंमत्रित व आश्वस्त करता हूँ कि आप गर्व के साथ कहेंगे कि मैं संतबूता सत्यनामदास वीरबल पी . जी . कालेज , अमारी दुल्लहपुर गाजीपुर का विद्यार्थी रहा हूँ । आप ऐसा आचरण करें जिससे अपने क्षेत्र विशेष में उपलब्धि प्राप्त कर एवं महाविद्यालय परिवार आप पर गर्व कर सकें ।

शुभ कामनाओं के साथ ,               

डॉ ० दुर्गविजय यादव

 प्राचार्य